मैं बनी तेरी राधा (सुनिधि चौहान, शहीद माल्या) | Song Review

मैं बनी तेरी राधा - Main Bani Teri Radha lyrics review Jab Harry Met Sejal आप इस पोस्ट में पढ़ेंगे। JHMS film का ये गाना अनुष्का शर्मा और शाहरुख खान पर फिल्माया गया है। जब हैरी मेट सेजल, शाहरुख और अनुष्का के साथ में की हुई दूसरी फिल्म है इससे पहले यह दोनों फिल्म रब ने बना दी जोड़ी में नजर आ चुके थे। इस गाने को बहुत ही खूबसूरत आवाज की मल्लिका सुनिधि चौहान और शाहिद माल्या ने गाया है। गाने के बोल लिखे हैं इरशाद कामिल (Irshad Kamil) ने, और संगीत दिया है प्रीतम जी (Pritam) ने। इस फिल्म के निर्देशक इम्तियाज अली (Imtiaz Ali) है। आप मैं बनी तेरी राधा - Main Bani Teri Radha song lyrics review Jab Harry Met Sejal (2017) पढ़ रहे हैं।

Main-Bani-Teri-Radha-Hindi-lyrics-Jab-Harry-Met-Sejal

Review:

गाने का मिजाज मस्ती भरा है। और गाने की रफ़्तार, अन्य गानों से अधिक है। हर प्रेम में डूबे युगलों का ये पसंदीदा गाना बन सकता है। इसकी खास बात ये है कि इसका जो संगीत है, वो काफी अलग है। गाने में दो अंतरे हैं लेकिन दोनों ही अंतरों के धुन अलग-अलग है। क्योंकि गाना बहुत रफ्तार वाला है। इसलिए इस गाने के बोल, बीच-बीच में सुनाई नहीं पड़ते हैं इसलिए आपको लिरिक्स समझने में परेशानी हो सकती है। तो इसलिए पेश है आपके लिए Main Bani Teri Radha lyrics.


Details:

  • Film: Jab Harry Met Sejal
  • Actors: Anushka Sharma, Shahrukh Khan
  • Singers: Sunidhi Chauhan, Shahid Mallya
  • Lyrics: Irshad Kamil
  • Music: Pritam
  • Director: Imtiaz Ali
  • Music Label: Sony Music

Lyrics

रात बढ़ाती कंधा कोठे
टप टप के दाना
तू सौखा समझे लग्गियाँ तोड़ निभाना
तू सौखा समझे लग्गियाँ तोड़ निभाना

ओ आशिक दिल की टसन पुरानी
कहते ज्ञानी इश्क सियापा, आग जवानी
चली गयी तो फिर नहीं आनी कुड़ी बेगानी
रहने दे जीना सीधा सादा
मैं बनी तेरी राधा

मैंने सखियों से अंखियों में
रखना है तुझको पिया थोड़ा ज्यादा, ज्यादा
मैं बनी तेरी राधा

तूने सपनों तड़पनो में रखना है
मुझको पिया थोड़ा ज्यादा, ज्यादा
मैं बनी तेरी राधा

ये कैसी खींचा तानी है
ये इश्क सियापा, आग जवानी
मुश्किल है ये आग बुझानी
जलना पड़ेगा आधा आधा
मैं बनी तेरी राधा (तू बनी मेरी राधा)

मैंने सखियों से अंखियों में
रखना है तुझको पिया थोड़ा ज्यादा, ज्यादा
मैं बनी तेरी राधा

तूने सपनों तड़पनो में रखना है
मुझको पिया थोड़ा ज्यादा, ज्यादा
मैं बनी तेरी राधा

ऊँचे चौबारे में जाने कैसे
जून में भी कोहरा पड़े..ओ पड़े
ओ ढीली चारपाई पे
युद्ध पानीपत का लड़े

कह गए ज्ञानी इश्क सियापा
आग जवानी
करिए न झूठ कोई वादा
मैं बनी तेरी राधा

मैंने सखियों से अंखियों में
रखना है तुझको पिया थोड़ा ज्यादा, ज्यादा
मैं बनी तेरी राधा
तूने सपनों तड़पनो में रखना है
मुझको पिया थोड़ा ज्यादा, ज्यादा
मैं बनी तेरी राधा

अरे मन की जो बातें न बोली थी औरों से
बोली हैं सारी वो तुमसे..हाँ तुमसे..ही तुमसे..
अरे अब मैंने क्या लेना औरों से
प्यारी है मुझको तो यारी
जो तुमसे है तुमसे हाँ तुमसे..

चल झूठी तू झूठी है
झूठी तेरी याद आणि ना रे मैनू
तेरे बाद भूलूंगा मैं तैनू

अरे मुरली में तेरी है जाने क्या जादू
सता न लो हारी मैं तुमसे हाँ तुमसे ही तुमसे

ये कैसी खींचा तानी है
ये इश्क सियापा, आग जवानी
मुश्किल है ये आग बुझानी
जलना पड़ेगा आधा आधा
मैं बनी तेरी राधा

मैंने सखियों से अंखियों में
रखना है तुझको पिया थोड़ा ज्यादा, ज्यादा
मैं बनी तेरी राधा

मैं बनी तेरी राधा (तू बनी मेरी राधा)
मैं बनी तेरी राधा, मैं बनी तेरी राधा

थोड़ा ठहर पल-भर बात मुकम्मल हो
आठों पहर दिलबर साथ मुकम्मल हो
हम तुम मिले तो
हरबार साथ मुकम्मल हो
मिलके चले तो
फिर उत्पात मुकम्मल हो (×2)

आपे से बाहर निकल कर
तोड़े से टूटेगी मैं…

मैं बनी तेरी राधा (तू बनी मेरी राधा)
मैंने सखियों से अंखियों में
रखना है तुझको पिया थोड़ा ज्यादा, ज्यादा
मैं बनी तेरी राधा

तूने सपनों तड़पनो में रखना है
मुझको पिया थोड़ा ज्यादा, ज्यादा

मैैं बनी तेरी रा… मैं बनी तेरी रा…
ओ… रा…
मैं बनी रा…
ओ… राधा

Post a Comment

0 Comments