इश्कबाज़ी से (सुखविंदर सिंह, दिव्या कुमार) | Song Review

आज हम आपके लिए Zero (2018) film का गाना Issaqbaazi Lyrics And Review लाए हैं। इस गाने को देश के प्रसिद्ध गायक Sukhwinder Singh और Divya Kumar ने मिलकर गाया है। Ishqbaazi Lyrics Irshad Kamil जी ने लिखे हैं और Music Ajay-Atul जी का दिया हुआ है। Zero film में Salman Khan, Katrina Kaif और Anushka Sharma मुख्य किरदारों में नजर आ रहे हैं।

zero-issaqbaazi-lyrics-in-hindi-shahrukh-khan-salman-khan

Ishqbaazi singer Sukhwinder जी वही गायक है। जिन्होंने शाहरुख खान का सुपरहिट song “चल छैयां छैयां" गाया था। ये गाना आज भी याद किया जाता है। Divya Kumar भी 2011 से संगीत की दुनिया में सक्रिय है और “मस्तों का झुंड" जैसे अलग किस्म के गाने गाये हैं। Jiyra Chaknachoor Hai Isakbaazi Lyrics पढ़ने से पहले Ishqbaazi song review पढ़ लेते हैं।

Review

इस गाने का plus point इसमें सलमान खान का होना ही है। हर किसी को सलमान और शाहरुख की दुश्मनी याद है। उस दुश्मनी के दोस्ती में बदलने के बाद ये पहला मौका है जब दोनों बड़े पर्दे पर साथ दिखाई दे रहे हैं। और उन दोनों की चेनिरी गजब की है।


अब बारी Issaqbaazi lyrics review की है। गाने के बोल शुद्ध देसी भाषा में है और काफी अच्छा लिखा गया है। गाने के बोल खुशी और उत्साह को दर्शाते हैं। सुखविंदर जी के बोल शाहरुख को और दिव्य कुमार के बोल सलमान खान को दिए गए हैं।

Issaqbaazi song सुनने और देखने दोनों में ही मजेदार है खासकर गाने के अंत में शाहरुख जी का डांस मस्त है। वैसे भी ये song dance और party lovers के लिए है। Issaqbazi song review पढ़ने लेने के बाद अब चलते हैं इसकबाजी लिरिक्स की ओर।

Details

  • Singer - Sukhwinder Singh, Divya Kumar
  • Music - Ajay-Atul
  • Lyrics - Irshad Kamil
  • Film - Zero
  • Starring - Shahrukh Khan, Anushka Sharma, Katrina Kaif
  • Label - T-Series

Lyrics

प्रेम ना उपजे खेत में
भैया प्रेम बीके ना हाट रे
पर जब जब ये हो जाए
लग जाती है वाट रे
वाट रे…
खड़ी हो जाएगी खाट रे…

मदूआ पिके प्रेम का हम
है तनीक बौराए से
रे वो माशूका, यार हम हैं
बीच ना कोई आये रे
हो उसके नैना निट दारु
से गज़ब चढ़ जाए रे

हो तब से हमरी है वो जब से
जग में आशिक आये रे
कसम से… धरम से…

कसम से जियरा चकनाचूर है
इश्कबाज़ी से (×3)

हो… तुम का जानो प्रीत की चिड़िया
कौन गगन में उड़ती है

हो… प्रीत हमरी परछाई है
जहां मुड़े हम मुड़ती है

हो लग जइबे हैं तेज कटारी
बड़ी जोर से सीने में

हाय दर्द बड़ा हो तभी तो आवें
बड़ा मज़ा जीने में

हो उसका हमरा मेल अनोखा…
उसका हमरा मेल अनोखा
वो लहर हम पानी हैं

तुम हो पानी हम किनारा
लहर हम तक आनी है

कसम से… धरम से…

कसम से जियरा चकनाचूर है
इश्कबाज़ी से (×3)

हो हो…

हम उस से प्रेम गज़ब करते
वो हमसे प्रेम गज़ब करती
वो हमरे लिए ज़रूरी है
वो हमरे बिना अधूरी है

हम तोसे उसको लड़वाएंगे
इतना हम भड़कायेंगे
तू चमचा होजा चाहे उसका
जो है मानेगी ना बात

हो एक बट्टे दो आशिक
तोहरी कैसे होगी छोरी रे
अपने कद से ऊँचा ना तू
सपनो जा चरखा काट

करत है क्यूँ बातें उम्र से बड़ी
तू देसी दीवाना वो इंग्लिश परी

रे साहिबा पढ़ाकू थी
मिर्ज़ा था तैयं
तब भी तो वो इंग्लिश है
देसी हूँ मैं

है जिया ले गयी है रे तोहरी ये बात
आ करले तू यारी मिला हमसे हाथ

आ करले तू यारी… मिला हमसे हाथ…

धिन ताक धिन ताक
धिन ताक धा…

More Songs

Post a Comment

0 Comments