तुम बिना मैं कुछ नहीं हूं, मोहित लालवानी & गुल सक्सेना (राधाकृष्ण)

tum-bina-main-kuchh-nahi-radhakrishn-lyrics-in-hindi

इस पोस्ट में आप Radha Krishn Serial का एक और शानदार गाना तुम बिना मैं कुछ नहीं हूं गाने का Lyrics और Review पढ़ेंगे। ये एक Sad Song है, जिसे गायक मोहित लालवानी और गुल सक्सेना ने अपनी आवाज दी है। यह दोनों ही गायक संगीत की दुनिया में अभी संघर्षरत है। गाने का संगीत सूर्या राजकमल ने दिया है और तुम बिना मैं कुछ नहीं सॉन्ग लिरिक्स अस्तित्व शेखर जी ने लिखे हैं। कृष्ण के किरदार में आप सुमेध मुद्गलकर को देखते हैं और राधा के रूप में आपको मल्लिका सिंह नजर आती है।

Hindi Song Review में आपको इस धारावाहिक के सारे गानों के Lyrics और उसकी सारी जानकारी मिलेंगे। इसी कड़ी में राधाकृष्ण सीरियल का यह दूसरा गाना है। इससे पहले Radha Krishna Title Song का lyrics और review लिखा जा चुका है। Lyrics Of Tum Bina Main Kuch Nahi से पहले इस गाने की समीक्षा।

Review

गाने की धुन बिल्कुल कृष्ण है विस्तार गाने के जैसी है बस इसके बोल और भाव अलग है। वो गाना जहां हमेशा हमेशा एक साथ रहने के भाव को प्रकट करता है। वहीं पर ये गाना विरह के दुखों को दर्शाता है। गाने के बोल बहुत ही साधारण शब्दों में लिखे गए हैं मगर भाव के अनुरूप है। सीरियल में इस गाने का फिल्मांकन पहले ही एपिसोड में, राधा कृष्ण के अलगाव के वक्त हुआ था और वो बहुत प्रभावशाली दृश्य था। तब से लेकर अब तक, यह गाना कई सारे दृश्यों में सुना जा चुका है। ये गाना आपके दिल को छूने में सक्षम है और आपको कुछ देर के लिए सोचने पर भी मजबूर कर देता है कि वाकई में बहुत सी चीजें हैं। जो कभी अलग नहीं हो सकती।

Details

  • Singers – Mohit Lalwani, Gul Saxena
  • Lyrics – Shekhar Astitva
  • Music – Surya Raj Kamal
  • Casting – Sumedh Mudgalkar, Mallika Singh
  • Channel – Star Bharat

Lyrics


तुम बिना मैं कुछ नहीं हूं राधिके प्रिया
जो भी था मेरा समर्पित तुमको कर दिया
तुम मुझसे दूर नहीं
मुझ में तुम समाई हो
मैं हूं अगर काया तो
तुम मेरी परछाई हो राधे

राधा राधा राधा राधा
कृष्णा कृष्णा कृष्ण (×2)

तुम ही हो हृदय
मेरा हो तुम ही भावना
मन में हो तुम्ही
तुम्ही हो मन की कामना
तुम मुझसे दूर नहीं
मुझ में तुम समाई हो
मैं हूं अगर काया तो
तुम मेरी परछाई हो राधे

क्यों भला घड़ी
विरह की आज है आई
कैसे दूर रह सकेगी
तन से परछाई
सागर से लहर भला
कैसे अलग रह पाएगी
कृष्ण से जो दूरी हो
राधा कहां सह पाएगी ओ कृष्णा

कृष्णा, कृष्णा, कृष्णा

Radha Krishna Songs

  1. कृष्ण है विस्तार Lyrics और Review
  2. तुम प्रेम हो तुम प्रीत हो Lyrics और Review
  3. ओ कान्हा ओ कृष्णा Lyrics और Review
  4. क्या हो रहा क्यूं हो रहा Lyrics और Review
  5. पूर्णचंद्र और गोलोक महारास Lyrics और Review
  6. प्यास दरस की अंखियों में Lyrics और Review

Post a Comment

0 Comments